School Reopen: 9वीं से 12वीं क्लास के खुलेंगे स्कूल, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए निर्देश

School Reopen

School Reopen: अगले सोमवार यानी 21 सितंबर से देशभर के स्कूल खुलने जा रहे हैं. इसे लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्कूलों में बच्चों की हेल्थ को लेकर गाइडलाइंस की घोषणा कर दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Choubey) ने ट्वीटर पर इसकी जानकारी शेयर की।

कोरोनावायरस के कारण देश भर के स्कूल लंबे समय से बंद हैं। छात्र अपने घरों में रहने को मजबूर हैं। लेकिन अब एक बार फिर से छात्र अपने स्कूल जा सकेंगे।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने रविवार को अपने ट्विटर हैंडल पर स्कूल खोलने को लेकर दिशानिर्देश साझा किए हैं। तकनीकी कार्यक्रमों में पाठ्यक्रम प्रदान करने वाले इन संस्थानों को भी 21 सितंबर से प्रयोगशाला खोलने की अनुमति दी गई है।

School Reopen: स्वास्थय मंत्रालय ने 21 सितंबर से स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी है। 21 सितंबर से, 9 वीं से 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूल खुले रहेंगे। मंत्रालय ने इन कक्षाओं के संचालन के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं, ताकि स्कूल आने वाले छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक School Reopen …

  • कक्षा में सिट‍िंग अरेंजमेंट भी बदला जाएगा।
  • स्कूलों को फिर से खोले जाने से पहले सैनिटाइज किया जाएगा।
  •  ज‍िन परिसरों को COVID केंद्र बनाया गया था, उन परिसरों को एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन वाले पदार्थों से साफ करना होगा।
  •  कंटेनमेंट ज़ोन में रहने वाले छात्र, शिक्षक या कर्मचारियों को स्कूल जाने की इजाजत नहीं होगी।
  • छात्र एक दूसरे से छह फ‍िट की दूरी में बैठेंगे, इसलिए कुर्सी-मेज की दूरी 6 फीट होनी चाहिए।
  • कक्षा में अन्य जरूरी गतिविधियों के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना होगा।
  • टीचिंग फैकल्टी को इस बात का ध्यान रखना होगा कि पढ़ाई-लिखाई के दौरान छात्र और अध्यापक मास्क पहने हुए हों।
  • छात्रों को आपस में लैपटॉप, नोटबुक, स्टेशनरी शेयर करने की इजाजत नहीं होगी।
  • असेंबली और खेलकूद से जुड़ी गतिविधियों को लेकर इकठ्ठा होने की मनाही है, क्योंकि इससे संक्रमण के फैलने का खतरा होगा।
  • फिलहाल 9वीं से 12वीं कक्षा के छात्रों को स्कूल जाने का विकल्प दिया गया है, वैसे उनके पास ऑफलाइन कक्षाओं में पढ़ने का भी ऑप्शन है।
  • स्कूल केवल उन छात्रों के लिए खुलेंगे जिनके पास ऑनलाइन शिक्षा की पहुंच नहीं है या दूसरी प्रॉब्लम्स का सामना कर रहे हैं।
  • परिसरों के अंदर छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों को रहने की अनुमति नहीं होगी।
  • बुजुर्ग, गर्भवती माताएं, ज्यादा बीमारियों वाले लोग जो हाई रिस्क में हैं, उन्हें परिसर में नहीं बुलाया जाएगा।
  • इसके अलावा जिमनैजियम सीमित क्षमताओं के साथ खुले रहेंगे और कॉलेजों और स्कूलों में स्विमिंग पूल बंद रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *